PAK से अभिनंदन की वापसी से लेकर कतर में पूर्व नौसैनिकों की रिहाई तक, जानें भारत की टॉप 10 कूटनीतिक जीत


India Diplomacy : पूरी दुनिया में इस वक्त भारत का डंका बज रहा है। कतर की जेल में बंद आठ पूर्व नौसैनिकों की रिहाई भारत की बड़ी कूटनीतिक जीत है। हाल के ही सालों में मोदी सरकार के साहसिक कूटनीतिक कदमों से विश्वभर में भारत की स्थिति मजबूत हुई है। आइए जानते हैं कि देश के टॉप 10 कूटनीतिक कदम।

नौसेना के पूर्व सैनिकों की रिहाई

कतर ने जासूसी के आरोप में पहले भारत के 8 पूर्व नौसैनिकों को मौत की सजा सुनाई। इसके बाद उन लोगों को रिहा कर दिया गया। दुबई में COP28 शिखर सम्मेलन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की कतर के शेख तमीम बिन हमद अल थानी से मुलाकात हुई थी। इसके बाद कतर ने भारतीयों की सजा को कम कर दिया था। आठ में से 7 पूर्व सैनिक कतर से भारत आ गए हैं।

यह भी पढ़ें : कतर से 7 भारतीयों की वापसी पर मुख्यमंत्री मोहन यादव ने कहा ‘नए भारत की नई तस्वीर, यह मोदी का इंडिया है’

रूस से तेल खरीदना

यूक्रेन से युद्ध लड़ने पर रूस के खिलाफ कई प्रतिबंध लगा दिए गए। अमेरिका समेत कई देशों ने रूस पर अंतरराष्ट्रीय व्यापार से लेकर कई प्रतिबंध लगाए, लेकिन इसके बाद भी भारत ने कम दामों पर मास्को से क्रूड ऑयल खरीदने का फैसला लिया।

विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान की वापसी

साल 2019 में भारत ने पाकिस्तान में फंसे विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान की सफलतापूर्वक वापसी कराई। मोदी सरकार की यह सबसे बड़ी कूटनीतिक जीत थी। उस समय स्थिति यह थी कि भारत के एक्शन से पाकिस्तान डरा हुआ था और तत्कालीन इमरान सरकार ने संसद में अभिनंदन को छोड़ने की घोषणा की थी।

ऑपरेशन गंगा

पिछले साल फरवरी महीने में भारत सरकार ने युद्ध क्षेत्र यूक्रेन में ऑपरेशन गंगा चलाया। इसके तहत यूक्रेन में फंसे भारतीय छात्रों को सुरक्षित भारत लाया गया।

वंदे भारत मिशन (VBM)

कोरोना काल में विदेश में फंसे भारतीयों की वतन वापसी के लिए ऑपरेशन वंदे भारत चलाया गया था। पूरी दुनिया में हवाई उड़ानें प्रतिबंध थीं। इसके बाद भी भारत ने विदेशों से भारतीय नागरिकों को सुरक्षित वापस लाया।

ऑपरेशन समुद्र सेतु

कोरोना महामारी में भारतीय नौसेना की ओर से ऑपरेशन ‘समुद्र सेतु’ (समुद्री पुल) चलाया गया था। इसके तहत विदेशों से भारतीय नागरिकों को वापस लाने का कार्य किया गया था। साथ ही ऑपरेशन समुद्र सेतु-II तहत इंडियन नेवी ने देश में ऑक्सीजन से भरे कंटेनरों को पहुंचाया था।

यह भी पढ़ें : ‘श्रीलंका है भारत का हिस्सा’; पड़ोसी देश के मिनिस्टर Harin Fernando बोले- सब कुछ बेचो और आ जाओ

ऑपरेशन संजीवनी

कोविड-19 काल में इंटरनेशनल सीमाएं बंद थीं, तब ऑपरेशन संजीवनी के तहत भारतीय वायुसेना (IAF) ने भारत से मालदीव को 6.2 टन आवश्यक मेडिकल दवाएं सप्लाई की थीं।

फ्री वैक्सीन 

जब दुनिया में कोरोना वायरस अपना पैर पसार रहा था तब भारत ने कई देशों को फ्री कोरोना वैक्सीन दी थी। इससे भारत को विकासशील दुनिया में राजनीतिक प्रभाव हासिल करने में मदद मिली।

ऑपरेशन अजय

इजराइल-हमास जंग के दौरान भारत सरकार ने ऑपरेशन अजय चलाया था। इसके तहत इजराइल में फंसे भारतीय को निकाला गया था।

दिल्ली में G-20 समिट का सफल आयोजन

देश की राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में पिछले साल सितंबर महीने में G-20 शिखर सम्मेलन का सफल आयोजन हुआ था। जब रूस के खिलाफ पूरी दुनिया थी तब जी-20 समिट में भारत ने अपनी दोस्ती निभाई। उन्होंने रूस-यूक्रेन पर मतभेदों को दूर करने के लिए सर्वसम्मति से घोषणा पत्र जारी किया था, जिस पर सभी सदस्य देशों ने अपनी सहमति जताई थी।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *