‘श्रीलंका है भारत का हिस्सा’; पड़ोसी देश के मिनिस्टर Harin Fernando बोले- सब कुछ बेचो और आ जाओ


Sri Lankan Tourism Minister Harin Fernando Speech: श्रीलंका भारत का हिस्सा है। यहां जीवन मुंबई की तुलना में सस्ता है। भारत के लोगों को छुट्टियां मनाने के लिए श्रीलंका आना चाहिए। यह कहना है श्रीलंका के पर्यटन मंत्री हरिन फर्नांडो का, जिन्होंने मुंबई में हुए एक कार्यक्रम में बोलते हुए श्रीलंका में भारत की बढ़ती हिस्सेदार का खुलासा किया।

उन्होंने बताया कि श्रीलंका में बन रहे 3 हवाई अड्डों में भारत सरकार निवेश करने जा रही है। पर्यटन मंत्री हरिन फर्नांडो ने कहा कि भारत के विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने भारतीयों को श्रीलंका जाने के लिए प्रोत्साहित किया था। जब श्रीलंका आर्थिक संकट और गृहयुद्ध से जूझ रहा था तो मदद को हाथ बढ़ाए थे। इसलिए मौका मिलते ही उन्होंने भारत की तारीफ में कसीदे पढ़े।

 

अडानी ग्रुप के साथ बिजनेस डील होने का दावा

मंत्री हरिन फर्नांडो ने कहा कि श्रीलंका के उड्डयन मंत्रालय के अधिकारी हवाई अड्डों का निर्माण करने के लिए भारतीय बिजनेसमैन गौतम अडानी और उनके अडानी ग्रुप के साथ बातचीत कर रहे हैं। चर्चा आखिरी दौर में है और जल्दी ही डील फाइनल हो जाएगी। इन हवाई अड्डों में से एक कोलंबो का बंदरनायके इंटरनेशनल एयरपोर्ट भी है।

उन्होंने कहा कि श्रीलंका में बसना और जिंदगी जीना इतना सस्ता है कि मैं अगर भारतीय होता और मुंबई में रहता तो सब कुछ बेचकर श्रीलंका में आकर बस जाता। श्रीलंका ने अपने विकास के लिए कई बड़े टारगेट बनाए हैं। पिछले साल मैंने ही कहा कि श्रीलंका आने वाले टूरिस्टों की संख्या एक दिन 15 लाख होगी और पिछले एक साल में 14 लाख टूरिस्ट श्रीलंका घूमने आ चूके हैं।

यह भी पढ़ें: भारत की बड़ी जीत, कतर की जेल से रिहा होकर वतन लौटे 7 पूर्व नौसैनिक, 8 को मिली थी मौत की सजा

2024 में 25 लाख टूरिस्टों का टारगेट बनाया

मंत्री फर्नांडो ने कहा कि जब मैंने 15 लाख टूरिस्टों का टारगेट रखा था, तब लोग मुझ पर हंसे थे। अब 2024 में 25 लाख टूरिस्टों का टारगेट रखा है। इसके लिए वे भारतीयों से श्रीलंका में इन्वेस्ट करने की अपील करते हैं। साथ ही उनसे श्रीलंका घूमने आने की भी अपील है। श्रीलंका बहुत खूबसूरत देश है और भारत से तो उसका सदियों पुराना नाता रहा है। श्रीलंका कभी भारत का ही हिस्सा था। आज भी है। दोनों देशों की सांस्कृतिक विरासत भी एक ही है तो अपना ही समझकर आइए।

यह भी पढ़ें: लकड़ी के छोटे से घर से व्हाइट हाउस तक का सफर, पढ़ें Abraham Lincoln की जिंदगी से जुड़े प्रेरक किस्से





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *